Gandhi Jayanti 2023:महात्मा गांधी के जीवन में इन महिलाओं की थी अहम भूमिका, हर कदम पर देती थीं साथ – Mahatma Gandhi Birth Anniversary 2023 Know About Gandhi Ji’s Women Associates In Hindi

0
5

[ad_1]

Mahatma Gandhi Birth Anniversary 2023 Know About Gandhi Ji's Women Associates in Hindi

महात्मा गांधी

विस्तार


Mahatma Gandhi Birth Anniversary 2023: भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर देशवासी उन्हें नमन कर रहे हैं। देश को आजादी दिलाने के लिए स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई का गांधी जी ने नेतृत्व किया था। उन्होंने अंग्रेजों की गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए किसी तरह की हिंसा का सहारा नहीं लिया, बल्कि सत्य और अहिंसा के मार्ग पर चलकर जीत हासिल की। उनके इस सिद्धांत को देश विदेश तक लोग आज भी अनुसरण करते हैं।

लोग अहिंसा का जिक्र होने पर बापू को याद करते हैं। महात्मा गांधी हर किसी के लिए प्रेरणा है। उनका पूरा जीवन ही आदर्श और प्रेरणा का प्रतीक रहा। हालांकि बापू के महात्मा बनने के पीछे कई लोगों का साथ रहा। जवाहर लाल नेहरू से लेकर सरदार पटेल, सुभाष चंद्र बोस से भगत सिंह तक सभी उनका सम्मान करते थे। वहीं उनकी पत्नी कस्तूरबा गांधी सदैव उनके कदम से कदम मिलाकर चलती थीं।

मोहनदास करमचंद गांधी के जीवन में कई ऐसी महिलाओं की भूमिका रही, जिन्होंने हर कदम उनका साथ दिया। महात्मा गांधी के जीवन में कई महिलाएं थीं जिन्होंने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई और उनके साथ स्वतंत्रता संग्राम में सहयोगी बनी। निम्नलिखित महिलाएं गांधी जी के जीवन में अहम थीं-

कस्तुरबा गांधी

कस्तुरबा गांधी महात्मा गांधी की पत्नी थी और वे गांधी जी के साथ उनके स्वतंत्रता संग्राम के सभी प्रेरणा स्रोतों में से एक थीं। कस्तुरबा जी को बा कहा जाता था। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया और गांधी जी के साथ उनके आश्रमों का प्रशासन किया।

सरोजिनी नायडू

सरोजिनी नायडू भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की प्रमुख महिला नेता और गांधी जी की सहयोगी थीं। वे विभाजन की प्रतिष्ठा विचार के प्रति गांधी जी की सलाहकार भी रहीं।

मीरा बेन

मीरा बेन वह विदेशी महिला हैं, जो महात्मा गांधी से बहुत प्रेरित थीं और अपने घर को छोड़कर भारत आ गईं थीं। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम के कई महत्वपूर्ण पहलुओं में गांधी जी के साथ काम किया, जैसे कि खादी सत्याग्रह और बारडोली सत्याग्रह।

डॉ सुशीला नय्यर

महात्मा गांधी के सचिव प्यारेलाल पंजाबी की बहन डॉ सुशीला नय्यर गांधी जी प्रभावित थीं। डॉक्टरी की पढ़ाई पूरी कर सुशीला गांधी जी की निजी डॉक्टर बन गईं। भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान सुशीला कस्तूरबा गांधी के साथ मुंबई में गिरफ्तार हो गईं। 

आभा गांधी

महात्मा गांधी के परपोते कनु गांधी की पत्नी आभा गांधी अक्सर बापू की प्रार्थना सभा में भजन गाया करती थीं। वह हमेशा गांधी जी के साथ रहती और आंदोलन में उनका समर्थन करतीं। जब नाथूराम गोडसे ने गांधी जी को गोली मारी, तब भी आभा वहां मौजूद थीं।

[ad_2]

Source link

Letyshops [lifetime] INT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here