संयुक्त राष्ट्र:राजनीतिक सुविधा के अनुसार आतंकवाद पर प्रतिक्रिया देना गलत, जयशंकर ने कनाडा को ऐसे घेरा – Un: “we Came Out Of The Era Of Non-alignment And Became World Friends”, Fm Jaishankar Said In Unga

0
4

[ad_1]

UN: "We came out of the era of non-alignment and became world friends", FM Jaishankar said in UNGA

यूएनजीए में एस जयशंकर
– फोटो : ANI

विस्तार


विदेश मंत्री एस जयशंकर ने संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों से कहा कि वे आतंकवाद, चरमपंथ और हिंसा पर प्रतिक्रिया तय करने के लिए ‘राजनीतिक सुविधा’ को अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने यहां संयुक्त राष्ट्र महासभा के 78वें सत्र को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करना और आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। 

उन्होंने कहा, ‘हमें रंगभेद जैसे अन्याय की फिर से पुनरावृत्ति नहीं होने देनी चाहिए। जलवायु कार्रवाई भी ऐतिहासिक जिम्मेदारियों की चोरी का गवाह नहीं बन सकती है। बाजारों की शक्ति का उपयोग जरूरतमंदों से अमीर तक भोजन और ऊर्जा पहुंचाने नहीं किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘न ही हमें यह स्वीकार करना चाहिए कि राजनीतिक सुविधा के अनुसार आतंकवाद, चरमपंथ और हिंसा का जवाब तय किया जाए। उनकी टिप्पणी कनाडा की ओर इशारा करती प्रतीत होती है जिसके प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने हाल ही में ब्रिटिश कोलंबिया में 18 जून को एक खालिस्तानी चरमपंथी नेता की हत्या में भारतीय एजेंटों की ‘संभावित’ संलिप्तता का आरोप लगाया था। भारत ने ट्रूडो के आरोपों को ‘राजनीति से प्रेरित’ बताया है और कहा है कि यह ‘पूर्वाग्रह की एक सीमा’ होती है।

UNGA में विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा, “भारत विविध साझेदारों के साथ सहयोग को बढ़ावा देना चाहता है। गुटनिरपेक्षता के युग से, अब हम ‘विश्व मित्र- दुनिया के लिए एक मित्र’ के युग में विकसित हो गए हैं। यह विभिन्न देशों के साथ जुड़ने और जहां आवश्यक हो, हितों में सामंजस्य स्थापित करने की हमारी क्षमता और इच्छा में परिलक्षित होता है। यह QUAD के तीव्र विकास में दिखाई देता है; यह BRICS समूह के विस्तार या I2U2 के उद्भव में भी समान रूप से स्पष्ट है।”






[ad_2]

Source link

Letyshops [lifetime] INT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here