Mathura News:मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर ने इंस्पेक्टर और स्वाट प्रभारी को मारी गोली, घेराबंदी कर दबोचा गया – History Sheeter Shot Inspector And Swat Incharge In Encounter In Mathura Surrounded And Caught

0
4

[ad_1]

History sheeter shot inspector and SWAT incharge in encounter in Mathura surrounded and caught

मथुरा में पुलिस की जैकेट में गोली लगने का निशान, पकड़ा गया 75 हजार का इनामी हिस्ट्रीशीटर रामवीर
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


उत्तर प्रदेश के मथुरा में बीती 26 अगस्त को मासूम के अपहरण की वारदात के मुख्य आरोपी हिस्ट्रीशीटर रामवीर ने शनिवार शाम मुठभेड़ के दौरान दो पुलिस अफसरों पर सीधे गोली दाग दी। गनीमत रही कि बुलेटप्रूफ जैकेट पहनी होने से वे बाल-बाल बच गए। जवाब कार्रवाई में बदमाश के दोनों पैरों पर गोली लगी। उसे घायल हालत में दबोच लिया गया। देर शाम उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

चौमुहां कस्बे के मारूफ थोक निवासी बच्चू सिंह के बेटे भानु का 26 अगस्त को स्कूल से लौटते वक्त बाइक सवार दो नकाबपोशों ने अपहरण किया था। पुलिस की घेराबंदी पर बदमाश बच्चे को शेरगढ़ क्षेत्र के जंगल में छोड़कर भाग गए थे। पुलिस की छानबीन में सामने आया कि बालक के पिता बच्चू सिंह की हाईवे किनारे बेशकीमती डेढ़ बीघा जमीन है। इसके आसपास की जमीन बिक चुकी है। 

यह भी पढ़ेंः- धर्मशाला की जमीन कब्जे का मामला: भाजपा नेता को महिलाओं ने बीच सड़क चप्पलों से पीटा, कपड़े फाड़े

दलाल इसे भी बिकवाने के लिए उससे संपर्क कर रहे हैं। दरों को लेकर उनका विवाद रामवीर से हो चुका था। परिवार पर दबाव बनाने के लिए रामवीर ने अपने साथी गोवर्धन उर्फ कुल्ली और गोविंद उर्फ बकड़ी से उसके बेटे का अपहरण कराया। पुलिस दो बदमाशों को मुठभेड़ में गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है। रामवीर सिंह पुत्र शिव सिंह निवासी चौमुंहा, फरार चल रहा था। पहले से इस पर 25 हजार का इनाम था। इस वारदात में ही 50 हजार का इनामी घोषित किया गया था। 

शनिवार शाम साढ़े पांच बजे जैत थाना इंस्पेक्टर अजय वर्मा व स्वाट टीम प्रभारी अभय शर्मा को रामवीर के जैत क्षेत्र में चामुंडा देवी मंदिर के पीछे एक कोठरी में छिपे होने की सूचना मिली। दोनों टीम के साथ मौकै पर पहुंचे और कोठरी की घेराबंदी की। इसी दौरान रामवीर ने 315 बोर के पौनिया से कई फायर किए। इस दौरान दोनों पुलिस अफसरों के सीने पर एक-एक गोली लगी। गनीमत रही कि उन्होंने बुलेटप्रूफ जैकेट पहन रखी थी।

यह भी पढ़ेंः- UP: आपके घर के आसपास निकलता है सांप…तो डरें नहीं, लिख लें यह नंबर और मिलाएं फोन; टीम आएगी पकड़कर ले जाएगी

20 दिन तक चकमा देता रहा रामवीर

रामवीर बेहद शातिर अपराधी है। अपहरण की वारदात के बाद 20 दिन तक पुलिस को चकमा देता रहा। इससे पहले पुलिस ने उसकी तलाश में मंगलामुखियों के घर में भी दबिश दी थी। तब वह भाग निकला था। पुलिस को उस 315 बोर की पौनिया, एक तमंचा, 17 कारतूस बरामद हुए हैं।

एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया जैत थाना पुलिस और स्वाट टीम ने बहादुरी का परिचय देते हुए कुख्यात अपराधी को गिरफ्तार किया है। रामवीर के खिलाफ पुलिस पर जानलेवा हमले का भी मुकदमा दर्ज किया गया है। कल उसे अदालत में पेशकर जेल भेजा जाएगा।

[ad_2]

Source link

Letyshops [lifetime] INT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here