Moradabad Weather:आंधी-बारिश ने बिगाड़ा मौसम का मिजाज, 14.8 मिमी बरसे बादल, तापमान दो डिग्री गिरा – Moradabad Weather: Storm And Rain Spoiled Weather, Temperature Dropped By Two Degrees

0
37

[ad_1]

Moradabad weather: Storm and rain spoiled weather, temperature dropped by two degrees

मुरादाबाद में बारिश के बीच जाती महिला
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


मुरादाबाद मंडल के मौसम में अचानक आए बदलाव से ठंड का असर दिखना शुरू हो गया है। मंगलवार सुबह भी हल्के बादलों के आहट के बीच सूर्य की किरणों बाहर निकली। एक दिन पहले यानि सोमवार को मौसम का मिजाज एकाएक बदल गया। आंधी और बारिश ने सर्दी का अहसास बढ़ा दिया।

मौसम विभाग के अनुसार दिन में 14.8 मिमी बादल बरसे। मंगलवार सुबह भी हल्के बादल दिखाई दिए। दोपहर के बाद मौसम साफ रह सकता है। सोमवार दोपहर करीब 12 बजे से मौसम में बदलाव शुरू हुआ। पहले बादल छाए और दोपहर करीब 12:30 बजे तेज हवा चलने लगी।

शहर के बाहर ही नहीं, बल्कि मुख्य मार्गों पर अंधड़ से राहगीरों का चलना दूभर हो गया। दिल्ली रोड पर पतझड़ से पूरी सड़क पट गई और वातावरण में भी धूल व पत्ते उड़ रहे थे। इसकी वजह से दोपहिया वाहन चालकों को या तो हेलमेट के शीशे नीचे करने पड़े या फिर वाहन रोकने पड़े।

आधा घंटे के इसी तरह के वातावरण के बाद तेज बारिश शुरू हुई। इससे मौसम में ठंड बढ़ गई। मौसम विज्ञान विभाग के डाटा संग्रह केंद्र के अधिकारियों के अनुसार दोपहर में 12 बजकर 45 मिनट से एक बजकर 30 मिनट तक और दोपहर तीन बजकर 10 मिनट से तीन बजकर 40 मिनट तक हवा की गति 15 से 25 किलोमीटर प्रति घंटा पूरब से पश्चिम दिशा में रही।

आधा घंटे में बारिश 14.8 मिलीमीटर दर्ज की गई। अधिकतम तापमान 30.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 19.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। पिछले 24 घंटे में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में दो-दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। सुबह वातावरण में नमी 76 फीसदी और शाम को 72 फीसदी दर्ज की गई।

सोमवार का दिन का तापमान सामान्य से छह डिग्री सेल्सियस कम रहा, जबकि न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया। पंतनगर विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डाॅ. आरके सिंह का कहना है कि मानसून की विदाई पांच अक्तूबर तक हो गई थी।

सोमवार को हुई बारिश पश्चिमी विक्षोभ की वजह से है। हालांकि अरब सागर में भी चक्रवात बना हुआ है। इससे वातावरण में नमी है। यह पश्चिमी विक्षोभ लंबे समय तक सक्रिय नहीं रहेगा।  

पिछले वर्ष चार दिन में हुई थी 426 मिमी बारिश

इस वर्ष मानसून की विदाई गत वर्ष की अपेक्षा दस दिन पहले हो गई है। पिछले वर्ष सात, आठ, नौ और दस अक्तूबर को लगातार बारिश हुई थी। आपदा प्रबंधन के अनुसार इन चार दिनों में जिले में 426 मिमी बारिश हुई थी। इसके कारण 22 वर्षों का रिकॉर्ड टूट गया था।

इससे तापमान में जबरदस्त गिरावट हुई थी और तापमान 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच गया था। इस बार अक्तूबर माह के पहले 15 दिन तक कोई बारिश नहीं हुई। तापमान भी 30 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया जा रहा था।

[ad_2]

Source link

Letyshops [lifetime] INT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here