Up:पैसों के भूखे भेड़िया बने हैं आपके स्वास्थ्य के दुश्मन, नमक और सॉस में भी कर रहे मिलावट; पढ़ें यह रिपोर्ट – Food Safety Drug Department Team Has Caught Adulterated Salt And Sauce Factory In Firozabad

0
5

[ad_1]

Food Safety Drug Department team has caught adulterated salt and sauce factory in Firozabad

फिरोजाबाद में पकड़ा गया नकली सॉस और जांच करती टीम
– फोटो : अमर उजाला

विस्तार


उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में खाद्य सुरक्षा औषधि विभाग की टीम ने नकली टाटा नमक के कारोबार का भंडाफोड़ किया है। टीम ने दीदामई से एक दुकान पर छापा मारकर 32.5 क्विंटल टाटा का नकली नमक पकड़ा है। टीम ने सैंपल लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया। वहीं, शेष नमक को सील कर विक्रेता के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

टाटा ब्रांड के नकली नमक का कारोबार जनपद में कई दिनों से चल रहा था। पूर्व में भी रसूलपुर क्षेत्र में मुकदमा दर्ज कराने के बाद टीम जांच में जुट गई थी। फिरोजाबाद में टाटा नमक के नाम पर नकली नमक की बिक्री होने पर टाटा कंपनी के अधिकारियों ने इस संबंध में जानकारी की तो दीदामई में बबलू किराना का नाम सामने आया। 

यह भी पढ़ेंः- कासगंज का युवक आईएसआई एजेंट: फेसबुक पर पहले हरलीन फिर प्रीती से दोस्ती, यूं देने लगा सेना की खुफिया जानकारी

मामले में कंपनी के अधिकारियों ने खाद्य सुरक्षा औषधि प्रशासन की टीम से संपर्क साधा। इसके बाद में किराना स्टोर पर पुलिस की मदद से छापा मारा। यहां 32.5 क्विंटल टाटा नमक मिला, जो टाटा के अधिकृत प्रतिनिधियों के अनुसार कंपनी का नहीं था। हालांकि विक्रेता वसीम का कहना था कि उसने यह नमक आगरा से लिया है। हालांकि कोई भी अभिलेख नहीं दिखाए हैं। पुलिस ने नकली होने के संदेह पर नमक को सील कर दिया है।

आगरा से होती है सप्लाई

विक्रेता ने बताया कि नकली नमक की सप्लाई आगरा से हुई। यह नमक बाजार में 15 रुपये किलो के हिसाब से मिल जाता है। जो 30 रुपये किलो बिक जाता था। मुनाफा कमाने के चक्कर में नकली नमक की बिक्री शुरू की।

नकली सॉस की फैक्टरी पर छापा

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग के सहायक आयुक्त डॉ. सुधीर सिंह के निर्देशन में टीम ने मंगलवार को शाम सुदामा नगर में नकली सॉस की फैक्टरी पर छापेमारी की। इसे सत्यभान राठौर द्वारा को संचालित किया जा रहा था। सॉस की गुणवत्ता खराब होने पर 400 बोतल को नष्ट कराया। वहीं, दो क्विंटल सॉस बनाने के लिए तैयार अर्धनिर्मित पदार्थ को भी नष्ट कराया गया। सॉस फैक्टरी को टीम द्वारा बंद करा दिया गया। 

यह भी पढ़ेंः- माफिया का अड्डा बनता जा रहा कासगंज: पैसा, नाम और अय्याशी की चाहत में युवा बन रहे देश और समाज के दुश्मन

इधर, झलकारी नगर निवासी सोनेश के यहां से खसखस का नमूना भरा। सहायक आयुक्त का कहना है कि मिलावट रोकने के लिए अभियान निरंतर जारी रहेगा। गौरव कैटरर्स से वनस्पति का सैंपल भरा। खाद्य सुरक्षा एवं औषध प्रशासन की टीम सिंथेटिक पनीर सप्लायर की तलाश में कोटला रोड स्थित मधुवन डेयरी पर पहुंची और पनीर का सैंपल लिया है।

[ad_2]

Source link

Letyshops [lifetime] INT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here